ISHQ HAI - Urdu Shayari ISHQ HAI

ISHQ HAI

HINDI SHAYARI

Lafzon mein bayan na hota ye Ishq hai
Akho se na nazar aata ye Ishq hai..

Pyaase ko pani bhula deta yee Ishq hai..
Din mein khab dekha deta ye Ishq hai..

Diljale ko shayar bhana deta ye Ishq hai..
Kisi dharam ya kisi Mazhab ka na Rehne deta ye Ishq hai..

Tere seva kisi ka na hone deta ye Ishq hai..

 Phir bhi... ye Ishq hai tho kyu hai


लफ़्ज़ों में बयान ना होता ये इश्क़ है 
आखो से ना नज़र आता ये इश्क़ है ..

प्यासे को पानी भुला देता ये इश्क़ है ..
दिन में खाब दिखा देता ये इश्क़ है ..

दिलजले को शायर बना देता ये इश्क़ है..
किसी धर्म या किसी मज़हब का ना रहने 
देता ये इश्क़ है ..

तेरे सिवा किसी का ना होने देता ये इश्क़ है ..
फ़िर भी ... ये इश्क़ है थो क्यू है


Ishq hai

Post a Comment

0 Comments