Main Chal Pada Hu... - Urdu Shayari Main Chal Pada Hu...

Main Chal Pada Hu...

 मैं चल पड़ा हू.....

आंखों में है कई सपने,
हर सपने को हकीकत करने चला हू,

कुछ करना है हासिल ऎसा,
जिस के लिए पल पल मरा हू,

हर तकलीफ, हर दर्द से लड कर आगे बढ़ा हू,
रास्ते में है कई अंगारे,

पर दिल में शोलें लिए चला हू,
रुकना नहीं है, बुलंद हौसले लिए चला हू,

मैं चल पड़ा हू....

Post a Comment

0 Comments